डीआईजी गढ़वाल ने की मंडल के सभी जनपदों की समीक्षा,अधिकारियों को दिए यह जरूरी निर्देश

ख़बर शेयर करें

पुलिस उपमहानिरीक्षक गढवाल परिक्षेत्र नीरू गर्ग द्वारा गढवाल रेंज के समस्त SSP/SP’s को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से *रेंज मीटिंग आयोजित कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये।परिक्षेत्र के समस्त SSP/SP’s को *जन शिकायती प्रार्थना पत्रों को प्राथमिकता के आधार पर त्वरित निस्तारण सुनिश्चित करने हेतु निर्देशित किया गया। थानों पर स्थापित महिला हेल्प डेस्क/रिसेप्सन में प्राप्त शिकायतों के निराकरण हेतु प्राप्त शिकायत को रजिस्टर में अंकित कर *सम्बन्धित थानाध्यक्ष शिकायत की गम्भीरता के दृष्टिगत प्रार्थना पत्र को SSI/SI व बीट इन्चार्ज को सुपुर्द कर यथासंम्भव 07 दिवस में निस्तारित करते हुए उक्त रजिस्टर में समस्त शिकायतों व की गयी कार्यवाही का विवरण मय मासिक गोश्वारे के अंकित करेंगें। अनावश्यक रूप से शिकायतों के लम्बित होने व *बिना किसी ठोस कारण 07 दिवस में निस्तारण न होने पर सम्बन्धित थानाध्यक्ष सीधे तौर पर उत्तरदायी रहेंगे। शिकायत रजिस्टर का सर्किल के *सी0ओ0 द्वारा नियमित रूप से निरीक्षण कर अपनी टिप्पणी अंकित की जायेगी साथ ही समय-समय पर *रेंज स्तर से भी रजिस्टर का औचक निरीक्षण किया जायेगा। समस्त जनपद प्रभारियों द्वारा 10 दिवस में अपने-अपने जनपदों की *डिजिटल मैपिंग की कार्यवाही निर्देशों के अनुरूप इस प्रकार सुनिश्चित करायी जाए कि स्थापित सी.सी.टी.वी कैमरे के माध्यम से किसी भी घटना का *कम समय में रूटमैप चिन्हित कर घटना के अनावरण एवं अभियुक्तों तक पहुंचने में पुलिस को किसी प्रकार का विलम्ब न होने पाए। इस महत्वपूर्ण कार्यवाही हेतु जनपद स्तर पर *राजपत्रित अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त करते हुए *जनपदीय प्रभारी स्वयं भी डिजिटल मैपिंग की कार्यवाही का पर्यवेक्षण तत्काल सुनिश्चित करेंगें साथ ही *पर्वतीय जनपदों में सीसीटीवी कैमरा की संख्या में वृद्धि करने हेतु भी सम्बन्धित SSP/SP’s को निर्देशित किया गया ।

यह भी पढ़ें -  डीएलएड शिक्षकों की नियुक्ति आदेश जारी, शासन ने किए विधिवत आदेश जारी

साइबर क्राईम के बढते प्रकरणों के दृष्टिगत समस्त जनपद आवश्यकतानुरूप *जांच अधिकारियों की ट्रेनिंग करायें जिससे समय पर जांच अधिकारी द्वारा साइबर क्राईम का गुणवत्तापरक अनावरण किया जा सके । इस परिपेक्ष्य में SSP देहरादून व हरिद्वार को पर्वतीय जनपदों से सामंजस्य स्थापित करते हुये निरीक्षक/उपनिरीक्षकों व जांच अधिकारियों की ट्रेनिंग साइबर एक्सपर्ट से कराने हेतु निर्देशित किया गया।डीआईजी गढ़वाल द्वारा Minor की गुमशुदगी के मामलों में रेंज के समस्त जनपद प्रभारियों को विशेष अभियान चलाकर गुमशुदा की बरामदगी हेतु सर्किल सी0ओ0 के नेतृत्व में टीम गठित कर शत प्रतिशत बरामदगी की कार्यवाही सुनिश्चित करते हुए उक्त अभियान की समीक्षा स्वयं जनपद प्रभारी द्वारा करने हेतु निर्देशित किया गया ।
गढवाल रेंज के जनपदों में घटित गम्भीर अपराधों यथा हत्या, डकैती, लूट, नकबजनी, चेन स्नैचिंग आदि सम्बन्धी प्रकरणों की जनपदीय वरिष्ठ/पुलिस अधीक्षक द्वारा नियमित रूप से समीक्षा करते हुए शीघ्र अनावरण व संलिप्त/ वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी की कार्यवाही अपने निकट पर्यवेक्षण में सुनिश्चित करायी जाए। इस सम्बन्ध में अधीनस्थ *अपर पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारीगण द्वारा सर्किल में घटित इस श्रेणी के अपराधों के शत प्रतिशत अनावरण की कार्यवाही सुनिश्चित कराये जाने हेतु निर्देशित/उत्तरदायित्व सौंपे जाने हेतु भी समस्त SSP/SP’s को निर्देशित किया गया। वर्तमान मानसून सत्र के दौरान अधिक वर्षा/अतिवृष्टि की सम्भावना के दृष्टिगत सभी जनपद प्रभारियों को विशेष सतर्कता बरते जाने एवं आपदा प्रबन्धन सम्बन्धी उपकरणों की क्रियाशीलता को उपयोगिता के दृष्टिगत पहले ही चेक कर लिया जाए। आपदा प्रबन्धन प्रशिक्षण प्राप्त कर्मियों की टीम गठित कर ली जाए ताकि किसी प्रकार की आपदा के अवसर पर जनहानि को रोके जाने की कार्यवाही पुलिस स्तर पर समय से की जा सके। इसी प्रकार आगामी माह में चारधाम यात्रा प्रारम्भ होने के दौरान यात्रा मार्ग में पूर्व निर्देशों के अनुरूप आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था हेतु समुचित पुलिस प्रबन्ध सुनिश्चित कर दिया जाए। विडियों कॉन्फ्रेंसिंग में योगेन्द्र रावत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद देहरादून, सेंथिल अबुदेई वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद हरिद्वार, पी0 रेणुका देवी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पौड़ी गढ़वाल, तृप्ति भट्ट वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद टिहरी, यशवन्त सिंह पुलिस अधीक्षक जनपद चमोली, मणिकांत मिश्रा पुलिस अधीक्षक उत्तरकाशी, आयुष अग्रवाल पुलिस अधीक्षक जनपद रूद्रप्रयाग, सम्मिलित रहे।

Ad
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
You cannot copy content of this page