ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के समापन के बाद से नियमित रूप से सक्रिय हैं युवा मुख्यमंत्री धामी…

ख़बर शेयर करें

देहरादूनः 8-9 दिसंबर को देहरादून में ऐतिहासिक ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के सफल आयोजन के बाद भी मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने किसी तरह का कोई ब्रेक नहीं लिया है। यह दर्शाता है कि मुख्यमंत्री राज्य के विकास के प्रति कितनी संवेदनशीलता और दृढ़ता के साथ आगे बढ़ रहे हैं। वे विभिन्न संगठनों की ओर से होने वाले कार्यक्रमों में बगैर रुके भाग ले रहे हैं तो समिट में हुए तमाम करार की भी वे समीक्षा कर रहे हैं।
पिछले छह माह से राज्य सरकार ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट की तैयारियों में जुटी थी। करीब तीन माह पूर्व इस हेतु राज्य के मुख्यमंत्री के नेतृत्व में टीम ने देश-विदेश में भी कई शहरों के दौरे किये और इस दौरान भारी-भरकम निवेश करार भी किये गए। इन्वेस्टर्स समिट के लिए राज्य के मुख्यमंत्री ने ढाई लाख करोड़ के निवेश का लक्ष्य रखा था जिसे 8-9 दिसंबर से पहले ही यानी इन्वेस्टर्स समिट से पहले ही प्राप्त कर लिया। हालांकि, मुख्यमंत्री फिर भी रुके नहीं। अब चूंकि राज्य की राजधानी में अंतरराष्ट्रीय स्तर का आयोजन होना था तो समिट से तीन चार दिन पहले से ही सीएम धामी खुद एफआरआई में मौजूद रहकर तैयारियों का जायजा लेते रहे।
8-9 दिसंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने एक ऐतिहासिक समिट का शुभारंभ किया जिसमें 44 हजार करोड़ के निवेश की ग्राउंडिंग हुई। अगले दिन गृह मंत्री श्री अमित शाह की मौजूदगी में समिट का समापन हुआ।
इधर, समिट का भव्य समापन होने के बाद भी धामी रुके नहीं, बल्कि अगले ही दिन से वे फिर मोर्चे पर डट गए। रविवार को उन्होंने फिर एक बार एफआरआई परिसर में उत्तराखंड के सूचना एवं लोक सम्पर्क विभाग की विकास पुस्तिका का विमोचन किया। यहीं पर उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट की तैयारियों में जुटे श्रमवीरों से मुलाकात कर उनकी भी हौसलाअफजाई की। इसी दिन देर रात में जब उन्हें सूचना मिली कि भाजपा नेता चमन लाल वाल्मीकि जी की मृत्यु हो गयी है तो तत्काल शोक-संतप्त परिवार के बीच पहुँच उन्हें ढांढस बंधाया।
सोमवार को फिर बगैर कोई ब्रेक लिए मुख्यमंत्री पीआरडी के स्थापना दिवस समारोह में पहुँचे जहां उन्होंने कार्मिकों के हित में पांच बड़ी घोषणाएं भी की। इसके बाद देर शाम भाजपा अनूसूचित जाति जनप्रतिनिधि सम्मेलन में भी पूरे जोश के साथ प्रतिभाग किया। इसके बाद मुख्यमंत्री आवास में पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में भी प्रतिभाग किया।
मंगलवार को भी मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की देहरादून में व्यस्त दिनचर्या रही। सुबह से शाम तक उन्होंने कई कार्यक्रमों में शिरकत की जिनमें फरियादियों से मुलाकात, सचिवालय में अधिकारियों के साथ राजकाज की समीक्षा, शहर में आयोजित हुए विभिन्न आयोजन और देर रात को जरूरतमंदों को कम्बल बांटना शामिल है।

यह भी पढ़ें -  डेरा प्रमुख सरदार तरसेम सिंह पर फ़ायरिंग, इलाज के दौरान हुई मौत, देखिए हत्या का लाइव वीडियो

सुबह तकरीबन 9 बजे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने प्रदेश के भाजपा संगठन महामंत्री अजय कुमार से अपने आवास में मुलाकात की। आधे घण्टे तक चली इस मुलाकात में दोनों के बीच संगठन की मजबूती और सरकार व संगठन के बीच समन्वय को लेकर चर्चा हुई। इसके बाद मुख्यमंत्री आवास में दूर दराज से पहुंचे मुलाकातियों और फरियादियों से मिलने सभागार में पहुंचे। एक के बाद एक उन्होंने सभी से मुलाकात की। उनकी समस्याएं पूछी और निदान के निर्देश अधिकारियों को दिए। इसके बाद आवास में स्थित कैंप कार्यालय में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने पहले विभागीय सचिवों और फिर अपने निजी स्टॉफ के साथ बैठक की और विभिन्न विषयों पर विचार विमर्श किया।

यह भी पढ़ें -  गुरु मंत्र पाकर धन्य धन्य हुई गुरु की प्यारी संगतें

फिर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने कैम्प कार्यालय में ही हेमवती नन्दन बहुगुणा गढ़वाल केन्द्रीय विश्वविद्यालय श्रीनगर गढ़वाल तथा कुमाऊं विश्वविद्यालय नैनीताल के स्थापना के स्वर्ण जयंती वर्ष पर आयोजित ‘स्वर्णिम अमृत संदेश रथ यात्रा’ का शुभारम्भ। इस अवसर पर यूकॉस्ट की ओर से आयोजित ‘अभिनन्दन एवं पौध भेट समारोह’ में विश्वविद्यालयों को शुभकामना देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी आयोजन को यादगार बनाने में पेड़ों की बडी भूमिका होती है। पेड़ जहां जीवन के आधार है वहीं हमारी संस्कृति और स्मृति के भी प्रतीक हैं।

इसके बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी गांधी पार्क, देहरादून पहुंचे जहां उन्होंने ड्रग्स फ्री देवभूमि मिशन-2025 कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड को 2025 ड्रग्स फ्री बनाने का लक्ष्य रखा गया है, इस अभियान को सबको मिलकर सफल बनाना है। राज्य में ड्रग ट्रैफिकिंग को रोकने और इसके तंत्र को ध्वस्त करने के लिए निरंतर प्रयास किये जा रहे हैं। इस वर्ष अभी तक एनडीपीएस एक्ट के तहत लगभग 600 मामले पंजीकृत हो चुके हैं, जिनमें करीब साढ़े सात सौ आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं। मादक पदार्थों की रोकथाम एवं इस सम्बन्ध में प्रभावी कार्रवाई के लिए राज्य में त्रिस्तरीय एन्टी नारकोटिक्स टास्क फोर्स का गठन किया गया है।

कार्यक्रम समाप्त होते ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सीधे राज्य सचिवालय पहुंचे जहां उनसे हिन्दी सिनेमा के सुप्रसिद्ध फिल्म अभिनेता श्री अनुपम खैर ने मुलाकात की। दोनों के बीच फिल्म निर्माण व फिल्मांकन को प्रोत्साहित करने के लिए उत्तराखण में सरकार की ओर से किए जा रहे प्रयासों पर विस्तार से चर्चा हुई। मुख्यमंत्री ने बताया कि फिल्म शूटिंग के लिए बेहतर वातावरण बनाने को सरकार निरन्तर प्रयास कर रही है। कुछ देर तक फाइलों का निस्तारण करने के बाद सचिवालय में ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने विकसित भारत संकल्प यात्रा के राज्य में सफल संचालन के विषय पर अधिकारियों की बैठक ली। अधिकारियों को निर्देश दिए कि सरकार की योजनाओं को आम जन तक पहुंचाने के लिए इस अभियान को मिशन मोड में लें। उन्होंने वर्चुअल माध्यम से जुड़े सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि इस अभियान को सफल बनाने के लिए जनपद स्तर पर एक-एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाए और उनसे प्रतिदिन की रिपोर्ट ली जाए।

यह भी पढ़ें -  सीएम धामी ने टिहरी लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में आयोजित जनसभा को किया संबोधित

शासकीय काम काज के दौरान मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की देश के भीतर चल रही राजनैतिक व भाजपा संगठन की गतिविधियों पर भी बराबर नजर रही। उन्होंने श्री भजन लाल शर्मा को राजस्थान भाजपा विधायक दल का नेता चुने जाने पर उन्हें हार्दिक बधाई व शुभकामना प्रेषित कीं। मुख्यमंत्री ने विश्वास व्यक्त किया कि मुख्यमंत्री श्री भजन लाल शर्मा के कुशल नेतृत्व में राजस्थान नई गति के साथ तेजी से विकास अग्रसर होगा। देर शाम तक राज्य सचिवालय में विभिन्न विभागों के सचिवों व विभागाध्यक्षों के साथ अलग अलग विषयों पर चर्चा वार्ता के बाद उन्होंने फाइलों का निस्तारण किया और उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए। रात के लगभग 8 बजे मुख्यमंत्री धामी ने देहरादून शहर के विभिन्न स्थानों का औचक दौरा कर ठण्ड के प्रकोप से निर्धन और बेसहारा लोगों को बचाने के लिए की गई व्यवस्थाओं को देखा। इस दौरान उन्होंने कम्बलें भी वितरित कीं।