विधायक रेनू बिष्ट की पोस्ट से मचा घमासान, पोस्ट बनी राजनीतिक गलियारों में चर्चाओं का विषय….

ख़बर शेयर करें

देहरादून, 2022 विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा में शामिल हुए नेता अभी भी खुद को मानो जैसे भाजपाई मानने को तैयार ही नहीं है दरअसल यमकेश्वर विधायक रेनू बिष्ट द्वारा सोशल मीडिया पर लिखी गई पोस्ट के बाद भाजपा के नेता भी असहज होते हुए दिखाई दे रहे हैं।। दरअसल यम्केश्वर से विधायक रेनू बिष्ट ने सोशल मीडिया पर लिखा

“आप लोगों की भावनाओं को मैं समझती हूँ, और आप लोगों ने मुझपर विश्वास किया है अपना स्नेह और आशीर्वाद मुझे दिया है, मैं मानती हूँ पिछले 20-22 वर्षों में आपके साथ बहुत छल हुआ है, किंतु अभी बस इतना ही कहूंगी कि मुझपर आपका वो विश्वास, स्नेह और आशीर्वाद जो आपने 2022 में दिया है वह व्यर्थ नही जायेगा यह मेरा आपसे वादा है, विधायक के रूप में मेरा यह प्रथम कार्यकाल ही आपके विश्वास में खरा उतरेगा”

यह भी पढ़ें -  गौमुख पैदल मार्ग पर चीड़वासा के पास पुल टूटने से फंसे कावड़िए, रेस्क्यू अभियान चलाकर 08 को निकाला सुरक्षित रेस्क्यू जारी।

रेनू बिष्ट के पोस्ट लिखे जाने के बाद राजनीतिक गलियारों में इस बात की चर्चा होने लगी है कि आखिरकार रेनू बिष्ट ये भी भूल गई कि 2002 से 2022 तक यमकेश्वर क्षेत्र में रहे भाजपा के ही विधायक सत्ता में रहे हैं। ऐसे में उनका इशारा किस ओर है इस बात पर चर्चा होना भी लाजमी है। हालांकि भाजपा के प्रदेश मीडिया इंचार्ज मनवीर चौहान ने कहा कि विधायक रेनू बिष्ट द्वारा सोशल मीडिया पर लिखी गई पोस्ट का पार्टी हाईकमान संज्ञान लेगा।। वहीं कांग्रेस के प्रदेश उपाध्यक्ष संगठन मथुरा दत्त जोशी ने कहा कि रेनू बिष्ट को पहले ये स्पष्ट करना चाहिए कि 2002 से 2022 के बीच यम्केश्वर के विधायकों के द्वारा किस प्रकार का काम किया गया है उन्होंने कहा कि शुरुआत से लेकर अब तक भाजपा के विधायक की यमकेश्वर से चुनकर आए हैं ऐसे में रेनू बिष्ट का इशारा किस ओर है यह उन्हें स्पष्ट करना चाहिए।।