श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में रंगारंग सांस्कृतिक सप्ताह का आयोजन

ख़बर शेयर करें

श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में वार्षिक सांस्कृतिक सप्ताह का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर डॉ यशबीर दीवान, कुलसचिव डॉ अजय कुमार खंडूड़ी, कल्चरल कमेटी की अध्यक्षा प्रोफेसर डॉ मालविका कांडपाल, पीजी कॉलेज के प्रधानाध्यापक प्रोफेसर प्रदीप ने दीप प्रज्वलित कर किया|
इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्रीमहंत देवेंद्र दास जी महाराज ने अपने शुभकामना संदेश में सांस्कृतिक सप्ताह 2023- 2024 के सफल आयोजन के लिए आयोजकों को शुभकामनाएं प्रेषित की।
विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर यशबीर दीवान ने कहा कि खेलोत्सव 2024 के सफल आयोजन के बाद विश्वविद्यालय में सांस्कृतिक सप्ताह का यह भव्य आयोजन छात्रों को शैक्षणिक गतिविधियों के साथ ही सामाजिक और सांस्कृतिक गतिविधियों में प्रतिभाग करने का अवसर देता है। उन्होंने सांस्कृतिक सप्ताह के अंतर्गत आयोजित होने वाले विभिन्न प्रतियोगिताओं में सभी छात्रों से बढ़-चढ़कर प्रतिभाग करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि प्रतिबद्धता और संकल्प के साथ धैर्य और रचनात्मकता से ही अच्छे व्यक्तित्व का निर्माण हो सकता है।
विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ अजय कुमार खंडूड़ी ने छात्रों और आयोजकों को शुभकामनाएं देते हुए बताया कि श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में अप्रैल में यूनिवर्सिटी फेस्टिवल श्री उत्सव कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा, जिसमें गढ़वाल की प्रसिद्ध गायिका हेमा नेगी करासी और बॉलीवुड की सुप्रसिद्ध गायिका सुनिधि चौहान के साथ विश्व प्रसिद्ध पॉप बैंड शुगर भी अपनी प्रस्तुति देगा। उन्होंने विश्वविद्यालय में शैक्षणिक गतिविधियों के साथ सांस्कृतिक और सामाजिक गतिविधियों को शैक्षणिक वार्षिक कैलेंडर में सम्मिलित करने की बात कही।
इस अवसर पर विश्वविद्यालय की कल्चरल कमेटी की अध्यक्षा प्रोफेसर मालविका कांडपाल ने सभी का धन्यवाद व्यक्त करते हुए कहा कि ऐसे सांस्कृतिक और सामाजिक आयोजन विभिन्नता में एकता की तरह पिरोही हुई माला होते हैं जो सामंजस्य के साथ बहुत खूबसूरत लगते हैं।
उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि चार दिन चलने वाले इस वार्षिक सांस्कृतिक सप्ताह में पहले दिन रंगोली, मेहंदी और पोस्टर मेकिंग, दूसरे दिन भाषण प्रतियोगिता, प्रश्नोत्तरी और स्लोगन राइटिंग वहीं तीसरे दिन एकल और समूह संगीत और सांस्कृतिक सप्ताह के अंतिम दिन यानी चौथे दिन एकल और सामूहिक डांस की प्रस्तुति रहेगी।
कार्यक्रम के पहले दिन मेहंदी प्रतियोगिता में प्रथम स्थान स्कूल आफ बेसिक एंड अप्लाइड साइंसेज की ईशा सिंह को मिला, वहीं द्वितीय स्थान पर स्कूल आफ नर्सिंग की पल्लवी और तृतीय स्थान स्कूल ऑफ़ एग्रीकल्चर साइंसेज के साथ स्कूल ऑफ़ फार्मास्यूटिकल एंड हेल्थ साइंस की सीमा काला और रचना को संयुक्त रूप से मिला।
रंगोली प्रतियोगिता के विजेताओं में प्रथम स्थान स्कूल ऑफ़ ह्यूमैनिटीज एंड सोशल साइंसेज की मानसी, सीमा, आराधना, मुस्कान, जोया को मिला। वहीं दूसरे स्थान पर स्कूल ऑफ सी एन आई टी की श्रेया, निहारिका दीप्ति, हर्षित, अनुज रहे। तृतीय स्थान स्कूल ऑफ़ नर्सिंग की शिवानी, काजल, इशा, कनिका और दिव्या को मिला।

पोस्टर प्रतियोगिता के विजेताओं में प्रथम स्थान संयुक्त रूप से स्कूल आफ ह्यूमैनिटीज और स्कूल ऑफ़ फार्मेसी की सीमा और मिताली को वहीं द्वितीय स्थान सी एन आई टी और स्कूल ऑफ़ बेसिक एंड अप्लाइड साइंसेज की अनुष्का और अविव्या को मिला तीसरे स्थान पर स्कूल ऑफ़ नर्सिंग की प्रिया पवांर रही।
कार्यक्रम का संचालन कल्चर कमेटी की मेंबर सेक्रेटरी डॉ बलबीर कौर ने किया।

यह भी पढ़ें -  गौमुख पैदल मार्ग पर चीड़वासा के पास पुल टूटने से फंसे कावड़िए, रेस्क्यू अभियान चलाकर 08 को निकाला सुरक्षित रेस्क्यू जारी।

सांस्कृतिक सप्ताह के प्रथम दिन निर्णायक मंडल में प्रोफेसर कुमुद सकलानी, प्रोफ़ेसर गीता रावत, प्रोफेसर कीर्ति सिंह, प्रोफेसर सरस्वती काला और प्रोफेसर अरुण कुमार, चीफ प्रॉक्टर और प्रवक्ता मनोज तिवारी, डीन स्टूडेंट वेलफेयर प्रोफेसर कंचन जोशी, स्कूल ऑफ़ मेडिकल एंड हेल्थ साइंसेज के डॉ पी ओहरी रहे।

यह भी पढ़ें -  महिला अपराधों पर महिला कांग्रेस ने किया पुलिस मुख्यालय का घेराव...

इस अवसर पर विश्वविद्यालय समन्वयक डॉ आरपी सिंह, डीन अकादमिक प्रोफेसर कुमुद सकलानी, मुख्य परीक्षा नियंत्रक प्रोफेसर संजय शर्मा, डॉ प्रियंका उपाध्याय, राखी चौहान, डॉ नेहा चौहान, डॉ दिव्या चौहान, स्निग्धा, डॉ कल्पना थपलियाल, प्रोफेसर प्रीति तिवारी के साथ ही विश्वविद्यालय के सभी स्कूलों के डीन और विभागाध्यक्ष के साथ ही फैकल्टी और छात्र-छात्राएं मौजूद रहे।