किस से करें शिक्षा की उम्मीद….शिक्षा विभाग के गजब आदेश, सोशल मीडिया पर हो रहे वायरल….

ख़बर शेयर करें

उत्तराखंड शिक्षा विभाग ने आज मासिक परीक्षाओं को लेकर आदेश तो जारी किए लेकिन यह देखना भूल गए कि आखिरकार यह आदेश किसके द्वारा किए गए और किसको आदेश निर्गत किए जा रहे हैं ।।सोशल मीडिया पर वायरल शिक्षा विभाग का यह लेटर विभाग की जमकर फजीहत करा रहा है।।

शिक्षा महानिदेशक के आदेश से जारी आदेश में निदेशक अकादमी शोध एवम प्रशिक्षण को प्रेषक बनाया गया है इसके साथ ही महानिदेशक के हस्ताक्षर से जारी आदेश में महानिदेशक को ही सी सी किया गया है।।।

यह भी पढ़ें -  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने रामलीला मैदान थराली में अनिल बलूनी के पक्ष में आयोजित जनसभा में की वोट अपील....

विगत 2 वर्षों से कोविड-19 के कारण शैक्षिक गतिविधियां प्रभावित हुई है तथा विद्यालयों के अनियमित संचालन के कारण इस अवधि में मासिक परीक्षा नहीं की जा सकी है, जबकि मासिक परीक्षा शैक्षिक गुणवत्ता वृद्धि के लिए एवं छात्रों के मूल्यांकन, शैक्षिक वातावरण को बनाए रखने में अति आवश्यक है।

अब सभी विद्यालयों में भौतिक रूप से पठन-पाठन का कार्य आरम्भ हो गया है। इसलिए शैक्षिक सत्र 2022-23 में जो कि 01 अप्रैल, 2022 से आरम्भ हो कर 31 मार्च 2023 तक चलेगा। समस्त जनपद निदेशक माध्यमिक व प्रारम्भिक शिक्षा द्वारा जारी पंचांग के अनुसार अपने अपने विद्यालय में मासिक परीक्षा आयोजित करना सुनिश्चित करेंगे।

यह भी पढ़ें -  मुख्यमंत्री धामी ने दूरभाष के माध्यम से अल्मोड़ा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में गंगोलीहाट में जनसभा को संबोधित किया।

● भासिक परीक्षा प्रदेश के समस्त विद्यालयों में आयोजित की जाएगी। ब्लाक के 07 सर्वेक्षण विद्यालयों को छोड़कर समस्त विद्यालयों में मासिक परीक्षाओं का मूल्यांकन उसी विद्यालय के शिक्षकों द्वारा किया जायेगा। 07 सर्वेक्षित विद्यालयों का मूल्यांकन डायट के निर्देशन में किया जायेगा।

० मासिक परीक्षाओं की तिथि एवं पाठ्यक्रम के संदर्भ में निदेशक माध्यमिक एवं प्रारम्भिक शिक्षा जनपदों को व समस्त मुख्य शिक्षा अधिकारी सम्बन्धित विकासखण्डों एवं विद्यालयों को अवगत करायेंगे कि किस तिथि को पूरे प्रदेश में मासिक परीक्षा आयोजित होगी व उस तिथि से पूर्व लर्निंग आउटकम के आधार पर डायट अपने जिले के लिए विषयवार व कक्षावार प्रश्न पत्र तैयार कर विकासखण्ड स्तर तक पहुँचाने की कार्यवाही करेंगे। (कार्यवाही निदेशक, माध्यमिक, प्रारम्भिक एवं समस्त मुख्य शिक्षा अधिकारी, समस्त डायट प्राचार्य उत्तराखण्ड)

यह भी पढ़ें -  डेरा प्रमुख की हत्या के मामले में पूर्व आईएएस अधिकारी हरबंस सिंह चुघ समेत 5 के खिलाफ मामला दर्ज